सही निर्णय कैसे लें? Decision Making In Hindi-10 Tips

सही निर्णय Right Decision  

दोस्तों, जीवन में सही निर्णय कैसे लें ( Decision Making In Hindi ) ? एक ऐसा सवाल जिसको सुनकर लोग अक्सर सोच में पड़ जाते हैं क्यूंकि, जीवन खुशियों के साथ संघर्षों से भी भरा हुआ है जिसके अच्छे बुरे दोनों पहलू होते हैं |

 हम जीवन में कुछ ऐसी परिस्थितियों में फंस जाते हैं जहां से हमको बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं  दिखाई देता और हम हताशा की ओर बढ़ने लगते हैं|

 उस वक़्त हमें ऐसे Right Decision पर पहुंचना होता है जिससे Life की परेशानियाँ  सुलझ सकें क्यूंकि इसका मूल कारण है किसी सोच में अटक कर रह जाना जिससे बाहर निकलना लगभग नामुमकिन सा लगने लगता है|

निर्णय जीवन का वह आधार है जो आपको आबाद और बर्बाद दोनों कर सकता है क्यूंकि अक्सर लोग निर्णय लेने की कला को नहीं समझ पाते और बाद में उनके दुष्परिणामों  का शिकार हो जाते हैं |

 

सही निर्णय क्या है ? Decision In Hindi

दोस्तों , निर्णय हम सभी लेते हैं लेकिन सही समय ( Right Time) पर लिया गया सटीक निर्णय (Precise Decision)  जो हमें विपत्तियों के  पार ले जिसके सही निर्णय माना जाता है |

हमारी Life में कई छोटे- बड़े मौके आते हैं जहाँ  हमको सही निर्णय ( Right Decision) लेना  ज़रूरी हो जाता है जिसमे बेहद ख़ास हैं :

जीवन में सही निर्णय कैसे ले | Taking right decision

Most Important Decisions of life 

1) छात्रों के लिए सही विषयों का चुनाव (Choosing The Right Subjects For The Students):

आज के प्रादिस्पर्धा(Competition) के दौर में हर एक Student दूसरे से बेहतर करना चाहता है और आगे बढ़ना चाहता है जिससे उनको अपनी काबिलियत के ज़ोर पर सही विषयों का चुनाव करना पड़ता है लेकिन कुछ परिस्तियों के चलते वो सही निर्णयों पर नहीं पहुंच पाते जिससे उनको विषयों में रूचि न होने की वजह से आगे चलकर बेहद कठिनाईओं और हताशा का सामना करना पड़ता है |

2) करियर के बेहतर विकल्पों का चुनाव (Choosing Better Career Options):

दोस्तों, हमने कही बार सुना ही लोग अपने करियर को लेकर काफी चिंतित रहते हैं और अपने चुने हुए करियर Options से संतुष्ट नहीं होते क्यूंकि वह लोग करना कुछ और चाहते थे लेकिन घर या बाहर वालो के दबाव के कारण गलत Career को चुन लेते हैं और खुद को आजीवन भर कोसते रहते हैं|

बाद में एक ऐसा पल आ जाता है जब परिवार की ज़िम्मेदारों के चलते अपने करियर को बदलना लगभग नामुमकिन सा होजाता है और उसी चुने हुए ऑप्शन के साथ खुद को झूटी संतुष्टि देनी पड़ती है|

3) शादी से सम्बंधित निर्णय (Marriage Decisions):

ये वह निर्णय है जो यदि पहले सावधानी से नहीं लिया जाये तो जीवन में बस समझोतों या पछ्तावों के अलावा कुछ नहीं छोड़ता क्यूंकि आजकल हम अक्सर शादी से सम्बंधित हो रहे धोखों को सुनते रहने हैं जिसका अंतिम परिणाम होता है शादी का टूटना |

यही सही  निर्णय क्षमता शादी के बाद भी काम आती, जो यदि समझ के साथ  लिया जाये तो रिश्तों में जुड़ाव के साथ मधुरता भी ला देता है|

4) मकान से सम्बंधित निर्णय (House Decision):

मकान एक ऐसा निर्णय जो एक आम आदमी के जीवन का ख़ास पहलू है क्यूंकि आज हर कोई अपने सपनों के घर की कल्पना करता है जिसको खरीदने से पहले बहुत जांच- पड़ताल भी करता है और सही निर्णय पर पहुँचता है लेकिन यदि किसी कारण वश ये निर्णय गलत साबित हो जाये तो ये सुनहरा सपना टूटने लगता है|

5) बीमारी से सम्बंधित निर्णय (Illness Related Decisions) :

ये भी बहुत ख़ास निर्णय है, क्यूंकि अक्सर लोग बीमारियों को लेकर इलाज़ से सम्बंधित सही निर्णय लेने पर उलझ जाते हैं या फिर कोई ऐसा मत्वपूर्ण निर्णय जो तुरंत लेना पड़ता है जैसे:

अचानक दुर्घटना में लिया गया ऑपरेशन का निर्णय जो बहुत बार लोगों को दुविधा में डाल देता है, कारण होता है निर्णय लेने की क्षमता में कमी |

ये कुछ बड़े निर्णय हैं जो बहुत ही सावधानी से लेने चाहिए, जिससे आप जीवन में पछतावे से बच सकें |

दोस्तों, सरलयुक्ति के माध्यम से मैं आज आपको बेहद ख़ास उपाए बताऊंगा जिससे आप जीवन में सही निर्णय लेने में काफी हद तक सफल हो पाएंगे और खुद को हताशा से दूर रख पाएंगे |

जीवन में सही निर्णय कैसे ले ? How To Take Right Decisions ?

सही निर्णय | Right decision

Right Decisions Tips In Hindi 

 1) विषय की गहराई तक जाएं (Go Deep Into The Subject):

यदि आप जीवन में सही निर्णय (Right Decision) लेना चाहते हैं तो विषयों या परिस्थितयों की गहराई तक जाएं जिससे आप उसके अच्छे- बुरे दोनों पहलुओं को जान पाएंगे क्यूंकि केवल अच्छाई को देखकर उसके दुष्परिणामों को नजरअंदाज करना आपकी लापरवाही और बेवकूफी कहलायी जा सकती है| जैसे :

पहला : जैसे ऊपर स्टूडेंट्स  , करियर, मकान, शादी या इलाज के संदर्भ में बताया गया है जिसके लिए गहन शोध की ज़रूरत पड़ती है लेकिन यदि आप सिर्फ इसलिए इन चीज़ों को चुनते हैं क्यूंकि आपके दोस्तों, सम्बन्धियों ने भी यही चुना है तो आप खुद को गहरे गड्ढे में डाल रहे हैं जरूरत है आपकी बेशकीमती राय और  रूचि को जानने की ताकि लिया गया निर्णय सही और सटीक साबित हो|

दूसरा : दोस्तों, इस उदारहण के बारे में हम सभी जानते हैं , कैसे कोर्ट में Judge कभी भी एक तरफ़ा राय नहीं देता , वह मुद्दे से जुड़े सभी अच्छे बुरे पहलुओं को जान कर , दोनों पक्षों की राय और सबूतों के आधार पर सही निर्णय लेता है क्यूंकि एक गलत निर्णय किसी बेकसूर को फांसी के फंदे तक पहुंचा सकता है|

इसीलिए विषय की गहराई तक जाकर सही निर्णयों पर पहुंचिए |

 

2) खुद की गलतियों से सीखें (Learn From Your Own Mistakes) :

दोस्तों, आज हर शख्स गलतियां करता है क्यूंकि काम करने वालों से ही अक्सर गलतियां होती हैं और आपने सुना होगा इंसान गलतियों का पुतला है लेकिन बार-बार की गई गलतियाँ कमजोरियों और पाप का रूप ले लेती है क्यूंकि हम सभी Life में गलतियां करते हैं लेकिन सुधारने का एकमात्र तरीका है उनसे मिलने वाली सीख |

जब भी आप भविषय में सही निर्णय लें अपनी पुरानी गलतियों और लिए गए निर्णयों पर  विचार करें जिससे आप पहले से ओर बेहतर निर्णय ले पाएंगे और जीवन में सफल हो पाएंगे |

 

3) दूसरों की गलतियों से सीखें (Learn From The Mistakes Of Others):

खुद की गलतियों से सीखना बेहतर है लेकिन अगर आप दूसरों की गलतियों से भी सीखते हैं तो ये आपकी समझदारी को दर्शाता है क्यंकि हमने  आस -पास लोगो को अक्सर गलतियाँ करते  देखा है फिर चाहे वो माँ- बाप हों, भाई बहन , रिश्तेदार या दोस्त इत्यादि|

यदि हम दूसरों की गलतियों से सीख लेते हैं तो वही गलतियां हम भविष्य में नहीं दोहराएंगे तथा जीवन में अपने और अपनों के  अनुभवों से सही निर्णय ले पाएंगे |

 

दुविधा  में सही निर्णय कैसे लें |   (How To Take Decisions When Confused)

 

4) सलाह का सहारा लें (Take Advice):

दोस्तों, अगर आप जीवन में सही निर्णय लेना चाहते हैं तो किसी अनुभव व्यक्ति की सलाह का सराहा लें क्यूंकि आज हर व्यक्ति किसी न किसी परेशानियों में फसा हुआ है  जिससे वह कुछ ऐसी परिस्थितियों में फंस जाता हैं जिससे शायद खुद बाहर निकलना आसान नहीं होता इसमें  बच्चों से लेकर बड़े भी शामिल है |

यदि आप खुद निर्णय पर नहीं पहुंच पा रहे तो आप किसी मित्र, परिवारिक सदस्य या किसी गुरु का सहारा ले सकते हैं क्योंकि कुछ परिस्थितियों में अक्सर दिमाग बंद हो जाता है जिसके लिए सही मार्गदर्शन की ज़रूरत पडती है, उनके ज्ञान , अनुभवों और दी गयी रायों  के आधार पर आप सही-गलत में फरक समझ कर सही और सटीक  निर्णय ले सकते हैं |

 

5) भावनाओं पर काबू रखें ( Control Emotions):         

Right Decision Tips यह भी है कि जब भी आप निर्णय लेना चाहे तो खुद को भावनाओं को दूर रखें जैसे : गुस्से, ख़ुशी , जल्दबाज़ी  या दबाव |भावनाओं में बह कर  लिया गया निर्णय ज्यादातर गलत ही साबित होता हैं |

यही बात वचन (Promise) निभाने के वक्त इस्तेमाल करें क्योंकि भावनाओं में बह कर लिया गया निर्णय अक्सर पछतावे पर खत्म होता है इसका सीधा उदाहरण रामायण से लिया जा सकता है कैसे, राजा दशरथ जी ने खुद की जान बचाने के बदले अपनी पत्नी सुमित्रा दो वचन देने का निर्णय लिया, कारण था ख़ुशी यानी अपनी भावनाओं पर काबू न रख पाना, जिसका परिणाम आज हम सभी जानते हैं |

इसीलिए ज़रूरत है खुद की भावनाओं पर काबू रखकर सही निर्णय लिया जाये |

 

6) दूसरों की भावनाओं की कद्र करें (Appreciate The Feelings Of Others):

अक्सर आपने देखा होगा जब लोग किसी बहस यामनमुटाव में उलझ जाते हैं तो  सिर्फ खुद को ही सही मानकर अंतिम निर्णय पर पहुंच जाते हैं और दूसरे को गलत साबित कर  खुद को सही और दूसरे को दोषी मान लेते हैं |

यही इंसानी फितरत का एक अवगुण है| इसीलिए दिल को बड़ा रखकर खुद को उसकी जगह रखकर देखिये, क्यूंकि यदि आप मैं को छोड़कर हम पर ध्यान देंगे, दूसरों की भावनाओं की कद्र करेंगे और खुद को झुकना सिखाएंगे, तो आप महसूस करेंगे कि विचारों पर पकड़ होने के साथ-साथ आप सही निर्णय भी ले पा रहे हैं |

 

7) खुद को शांत रखें (Keep Yourself Calm):

सही निर्णय कैसे लें ? ( Decision Making In Hindi ) में ये एक बेहद खास उपाए है |

यदि आप जीवन में सही निर्णय लेना चाहते हैं तो खुद को बेहद शांत रखें क्यूंकि शांत व्यवहार ही आपके अच्छे व्यक्तित्व का हिस्सा है जो आपकी बेहतर निर्णय क्षमता को दर्शाता है |

लेकिन आज लगभग हर दूसरा व्यक्ति  गुस्से और इर्षा से भरा हुआ है और दूसरों को कमज़ोर साबित करना चाहता है|

यदि आप जीवन में सही निर्णय लेना चाहते हैं तो खुद को शांत और खुश रखना सीखें, चेहरे पर मुस्कुराहट रखे, योग -प्राणायाम को जीवन में उतारें, सात्विक भोजन पर ध्यान दें और खुद में बदलाव महसूस करें |

 

8) प्राथमिकता रखें( Set Priorities):

जीवन में बेहतर निर्णय लेने के लिए प्राथमिकताओं को चुने क्यूंकि जिन लोगों के Life में प्राथमिकता नहीं होती वह जीवन में  सही निर्णय नहीं  ले पाते |

क्यूंकि इंसान अपनी ज़रूरतों के हिसाब से सही निर्णय लेता तभी वह सही निर्णयों के फायदों और कीमत को समझ पाता है|

अक्सर बड़े और ज़रूरी निर्णयों के लिए प्राथमिकता को चुना जाता है फिर उसी हिसाब से निर्णयों लिया जाता है |

इसीलिए ज़रूरत है अपनी प्राथमिकताओं की सूचीं बनाएं और जो बेहद जरूरी है उन पर काम शुरू करें | सभी निर्णय एक साथ न लें और अपनी प्राथमिकताओं, अनुभवों  और सहूलियतों के हिसाब से निर्णय पर पहुंचे|

 

9) खुद पर भरोसा रखें (Trust Yourself):

दोस्तों, कहा जाता  है,  सुनो सबकी लेकिन करो खुद की |  यदि आप सही निर्णय पर पहुंचना चाहते हैं तो अपने पर भरोसा रखें खुद को मोटिवेट करें जैसे:

  •  मैं कर सकता हूं|
  • मैं एक अच्छा Decision Maker हूँ  इत्यादि |

आप इन वाक्यों कई बार दोहरा सकते हैं जिससे आप खुद में खुशी की लहर महसूस करेंगे  क्यूंकि यदि आप खुद पर भरोसा नहीं कर सकते और हर बात पर दूसरों पर निर्भर रहेंगे तो आत्मविश्वास को बैठेंगे और आत्मविश्वास से ही आत्मसम्मान निखरता है |

याद रहे : राय लेने और दूसरों पर निर्भर रहने में फर्क है |

 

10) विवेक को जगाएं (Active Right Understanding) :

यदि आप जीवन में 100 % सही और सटीक निर्णय लेना चाहते हैं तो  मार्ग है  खुद को जानना, अध्यात्म को समझना और अपने विवक को जगाना।

जिसका मतलब है मन और बुद्धि से परे सोचना जिससे आपकी अंतर्ज्ञान शक्ति ( Intuition Power) भी मजबूत होगी जो आपको हमेशा सही निर्णयों पर पहुंचाएगी , क्यूंकि मन और बुद्धि आपको बहका सकते हैं लेकिन विवेक से लिया गया निर्णय आपको उच्चतम सीमा की सोच देता है और यही सोच सही निर्णयों तक पहुँचती है |

इसीलिए ज़रूरत है Meditation को अपने जीवन में उतारें, इसके अलग -अलग Levels तक पहुंचने की कोशिश करें और खुद में अधबुध बदलाव देखें|

इसके लिए आप किसी योग या अध्यातम गुरु का सहारा ले सकते हैं जिससे आपका आभामंडल मजबूत होगा, आप सकारात्मकता की और बढ़ेंगे और सही निर्णय लेने पर कुशलता हासिल कर पाएंगे |

 

 

निष्कर्ष(Conclusion) :

दोस्तों, ये वो तरीके हैं जिनको अपनाकर  आप ज़िन्दगी में  सही निर्णय ले सकते हैं क्यूंकि जीवन का आधार ही निर्णयों पर टिका है , जो हमको छोटी  से बड़ी हर समस्या को  निपटने में सहायता और कुशलता देता है | इसीलिए ज़रूरी है सही समय पर सही निर्णय लेना और ज़िन्दगी ने आगे बढ़ना |

मैं आशा करता हूँ सरल युक्ति के माध्यम से लिखा मेरा लेख  “सही निर्णय कैसे लें ?” ? आपको पसंद आया होगा और आपको “Decision Making In Hindi ” को समझने में सहायता मिली होगी | आप इस लेख को शेयर भी कर सकते हैं और अपने सुझाव मुझको भेज सकते हैं जिससे मुझे और बेहतर लिखने की प्रेरणा (Inspiration) मिलेगी |

 

हमेशा हँसते रहिये और मुस्कुराते रहिये || 

धन्यवाद || 

 

About Vinay Rajput

Hi, I m Vinay Rajput, an Author, and founder of Saralyukti.com. I m here to publish motivational and other blogs to inspire people to live an easy life in day-to-day unwanted circumstances and issues.

View all posts by Vinay Rajput →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *